photo 71512916 - iranian women will see match: ईरान
में महिलाओं को मिली 40 साल बाद आजादी, स्टेडियम में बैठकर देख सकेंगी
मैच - iran finally opens stadiums to women from today 
Times

iranian women will see match: ईरान में महिलाओं को मिली 40 साल बाद आजादी, स्टेडियम में बैठकर देख सकेंगी मैच – iran finally opens stadiums to women from today Times

हिंदी न्युज


pic - iranian women will see match: ईरान
में महिलाओं को मिली 40 साल बाद आजादी, स्टेडियम में बैठकर देख सकेंगी
मैच - iran finally opens stadiums to women from today 
Times
हाइलाइट्स

ईरान में आज से महिलाओं को स्टेडियम में बैठकर फुटबॉल मैच
देखने की अनुमति मिल जाएगी

महिलाओं को 40 सालों के लंबे इंतजार के बाद यह आजादी मिली
है

फीफा के दबाव में ईरान को तेहरान के आजादी स्टेडियम में
महिला दर्शकों के लिए सीटें आवंटित करनी पड़ी हैं

तेहरान
रुढ़िवादी इस्लामिक देश ईरान में आज से महिलाओं को स्टेडियम में
बैठकर फुटबॉल मैच देखने की अनुमति मिल जाएगी। महिलाओं को 40 सालों
के लंबे इंतजार के बाद यह आजादी मिली है। हालांकि अब भी महिला
ऐक्टिविस्टों को यह यकीन नहीं है कि कम्बोडिया के खिलाफ होने वाला
यह मैच खेलों में महिलाओं की एंट्री की मजूबत शुरुआत है। बता दें कि
वैश्विक फुटबॉल संस्था फीफा के दबाव में ईरान सरकार को तेहरान के
आजादी स्टेडियम में महिला दर्शकों के लिए सीटें आवंटित करनी पड़ी
हैं। इस स्टेडियम में 78,000 लोगों के बैठने की क्षमता है।
कंबोडिया के खिलाफ गुरूवार को होने वाले विश्व कप 2022 क्वॉलिफायर
मैच के टिकट महिलाओं ने धड़ाधड़ खरीदे। पहले बैच के टिकट एक घंटे से
भी कम समय में बिक गए। बता दें कि पिछले महीने एक फुटबॉल मैच के
दौरान महिला दर्शक साहर खोदयारी ने स्टेडियम में जाने की कोशिश की
थी। इस पर प्रशासन ने उसे हिरासत में ले लिया था। इस उत्पीड़न से
परेशान साहर ने आग लगा ली थी और बाद में अस्पताल में उनका निधन हो
गया था। इस घटना के बाद फीफा ने इस्लामिक देश पर महिलाओं को भी मैच
देखने की आजादी देने का दबाव बनाया था। फीफा ने ईरान से कहा था कि
उसे वर्ल्ड कप क्वॉलिफायर मैचों में महिलाओं की भी एंट्री को अनुमति
देनी चाहिए।

गौरतलब है कि साहर खोदयारी वेश बदलकर फुटबॉल मैच देखने स्टेडियम
पहुंची थीं। यहां उन्हें पुलिस ने हिरासत में ले लिया था। इसके
बाद महिला ने डर से खुद को आग लगा ली थी। दरअसल ईरान में अब तक
महिलाओं के स्टेडियम में घुसने पर पाबंदी थी। अगर कोई महिला
स्टेडियम में घुसती है तो उसे 6 महीने की जेल का प्रावधान था।
मृतक महिला भी पुरुषों का वेश बनाकर स्टेडियम में घुसी थी, लेकिन
उसे पुलिस ने पहचान लिया और हिरासत में ले लिया था।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *